भारतीय वायुसेना के लिए 400 विमानों के सप्लाई-आर्डर का रूस भी दावेदार

अगर भारत की दिलचस्पी होगी, तो रूस भारत को नवीनतम लड़ाकू विमान मिग-35 की आपूर्ति करने को भी तैयार है।
भारतीय वायुसेना का सुखोई एसयू-30 लड़ाकू विमान।
भारतीय वायुसेना का सुखोई एसयू-30 लड़ाकू विमान। स्रोत :@IAF_MCC

रूस के सैन्य-तकनीकी सहयोग प्राधिकरण के उपनिदेशक व्लदीमिर द्रझोफ़ ने समाचार समिति रिया नोवस्ती को जानकारी दी है कि रूस भी उस निविदा में हिस्सा लेगा, जो भारतीय वायुसेना के लिए 400 लड़ाकू विमान की सप्लाई करने से सम्बन्धित होगी। 

उन्होंने कहा  – हम इस टेण्डर में ज़रूर हिस्सा लेंगे। हमने टेण्डर की घोषणा होने से पहले ही भारत को अपना प्रस्ताव भेज दिया है। हम भारतीय वायुसेना के सामने मिग और सुखोई जैसे अग्रिम तक्नोलौजियों वाले लड़ाकू विमान ख़रीदने का प्रस्ताव रखेंगे।

समाचार समिति तास से बात करते हुए द्रझोफ़ ने कहा – अगर भारत की दिलचस्पी होगी, तो रूस भारत को नवीनतम लड़ाकू विमान मिग-35 की आपूर्ति करने को भी तैयार है।  इसके अलावा, भारतीय पायलट मिग जैसे विमानों से अच्छी तरह परिचित हैं। फ्राँसीसी लड़ाकू विमानों रफ़ाल के विपरीत, भारत में रूसी विमानों का उपयोग करने के लिए बुनियादी ढाँचा पहले ही तैयार है।

द्रझोफ़ ने बताया कि रूस भारतीय वायुसेना के एसयू-30 एमकेआई विमानों की आधुनिकीकरण करने जा रहा है।

+
फ़ेसबुक पर पसंद करें