सुदूर उड़ानें भरने वाला रूस का नया रणनीतिक बमवर्षक विमान अगले दशक की शुरू में

रूसी समाचार समिति तास ने रूसी रक्षा उद्योग में अपने सूत्रों के हवाले से जानकारी दी है कि सुदूर उड़ानें भरने वाला रूस का नया रणनीतिक बमवर्षक विमान अगले दशक की शुरू में बनाकर तैयार कर लिया जाएगा। ’उड़ते हुए पंख’ परियोजना के आधार पर पहले इस विमान का एक परीक्षण मॉडल बनाया जाएगा। ’उड़ते हुए पंख’ परियोजना का मतलब है कि यह विमान बिना पूँछ और बिना पंखों के उड़ने वाला एक ढाँचा मात्र होगा।
Russian aircraft
रणनीतिक बमवर्षक विमान के निर्माण में जल्दबाज़ी करने की कोई ज़रूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि रूसी डिजाइनरों के सामने और भी कई महत्वपूर्ण ज़िम्मेदारियाँ थीं। स्रोत :Sergei Bobylev/TASS

सुदूर उड़ानें भरने वाला रूस का नया रणनीतिक बमवर्षक विमान बनाने से सम्बन्धित प्राथमिक निर्माण कार्य सन् 2016 के आख़िर तक पूरे कर लिए गए थे। अब इस विमान के डिजाइनर विमान के लिए ज़रूरी दस्तावेज़ तैयार कर रहे हैं।

नए विमान की विशेषताएँ

रूस के ये भावी सुदूर रणनीतिक बमवर्षक विमान आवाज़ की गति से कम गति पर यानी अधिकतम 1250 कि०मी० प्रति घण्टे की रफ़्तार से उड़ान भरा करेंगे। इन विमानों में तैनात सभी हथियार विमान के भीतर ही रखे होंगे। नए विमान की बॉडी आलोपन (स्टेल्स) तकनीक के आधार पर विशेष मिश्रित धातुओं से बनाई जाएगी।

रूस-भारत संवाद से बात करते हुए ’सूचना तकनीक विश्वविद्यालय’ की ’अन्तरराष्ट्रीय यान्त्रिक और ऊर्जा प्रणाली प्रयोगशाला’ के प्रमुख पाविल बुलात ने कहा — नया सुदूर रणनीतिक बमवर्षक विमान, टीयू-160 व अन्य रणनीतिक बमवर्षक विमानों से इस मायने में अलग होगा कि वह कम ईंधन में देर तक लम्बी उड़ानें भर सकेगा। अभी तक सुदूर उड़ानें भरने वाले विमान 40 टन गोला-बारूद से लैस होते थे, नए विमान पर भी 40 टन गोला-बारूद लादा जा सकेगा। 

पाविल बुलात के अनुसार,  नए सुदूर रणनीतिक बमवर्षक विमानों पर किसी भी प्रकार के बम तैनात किए जा सकेंगे। उन्हें कंक्रीट भेदक बम, क्लस्टर बम आदि किसी भी प्रकार के विस्फोटक बमों से लैस किया जा सकेगा।

विमान के निर्माण में देरी क्यों

नए सुदूर रणनीतिक बमवर्षक विमान का निर्माण सन् 2009 में शुरू किया गया था। सरकार  ने इस सिलसिले में रूसी विमान निर्माण निगम ’तूपलिफ़’ से एक अनुबन्ध किया था क्योंकि अभी तक तूपलिफ़ निगम ही सुदूर उड़ानें भरने वाले रणनीतिक विमानों का निर्माण करता रहा है।

पहले रूस का रक्षा मन्त्रालय यह चाहता था कि नए सुदूर रणनीतिकक बमवर्षक विमान सन् 2025 तक रूसी वायु सेना को मिल जाएँ तथा उनका परीक्षण 2020 तक पूरा हो जाए। लेकिन टीयू-160 विमान का उत्पादन फिर से शुरू किए जाने के कारण इस योजना को स्थगित करना पड़ा था।

पाविल बुलात का कहना है कि नए सुदूर रणनीतिक बमवर्षक विमान के निर्माण में देर इसलिए हो गई क्योंकि सैन्य विमान बनाने वाला कारख़ाना ‘अन्तरिम’ सामरिक बमवर्षक विमान टीयू-160एम2 के उत्पादन में व्यस्त था।

पाविल बुलात ने इस बात से इनकार किया कि अन्य देशों की तुलना में रूस नए पीढ़ी के रणनीतिक बमवर्षक विमान का निर्माण देर से करेगा। उन्होंने कहा कि रणनीतिक बमवर्षक विमान के निर्माण में जल्दबाज़ी करने की कोई ज़रूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि रूसी डिजाइनरों के सामने और भी कई महत्वपूर्ण ज़िम्मेदारियाँ थीं, जैसे उन्हें चालक रहित छोटे ड्रोन विमानों को नाकाम करने के लिए तकनीक की खोज करनी थी, जो सुदूर रणनीतिक बमवर्षक विमान के निर्माण से कहीं ज़्यादा ज़रूरी मुद्दा था। 

+
फ़ेसबुक पर पसंद करें