In the late 1980s, the factory started manufacturing a production series of the newest fourth-generation multirole aircraft, the Su-27IB, which was later named the Su-32. A-50 3 Girls-cadets Communal S-400 6 Kantemirovskaya 4 Price of gold Arctic MILITARY "experienced" the deer and dogs on exercises  View of winter Moscow
रूस के विशाल कारख़ाने : जहाँ रूस का नया भारी हमलावर विमान बनाया जाता है लीक से हटकर रूस के सैनिक कॉलेजों में लड़कियों की भरमार

रूसी अवाक्स विमान ए-50 भारतीय नभ सीमाओं की सुरक्षा में

भारतीय वायुसेना के पास अभी तीन रूसी अवाक्स ए-50 विमान हैं। इस साल भारत ने ऐसे दो और विमान ख़रीदे हैं।
  बरीस येगोरफ़
A-50 1
अधिक देखने के लिए नीचे जाएँ

mil.ru

बेरीइफ़ ए-50 विमान एयरबोर्न अर्ली वार्निंग एण्ड कण्ट्रोल (अवाक्स) यानी पूर्व चेतावनी देने वाले और नभ सीमाओं की निगरानी करने वाले ऐसे विमान हैं, जो आईएल-76 जेट विमानों के आधार पर बने हुए हैं।
A-50 2

mil.ru

ए-50 विमानों का इस्तेमाल हवाई ख़तरों और नौसैनिक युद्धपोतों से पैदा होने वाले ख़तरों की खोज करने और पूर्व चेतावनी पाने के लिए किया जाता है।
A-50 3

mil.ru

एक ए-50 अवाक्स विमान 10 लड़ाकू विमानों की निगरानी कर सकता है और उन पर एक साथ नज़र रख सकता है।
A-50 4

mil.ru

आजकल भारतीय वायुसेना के पास तीन रूसी अवाक्स ए-50 विमान हैं।
A-50 5

mil.ru

विगत फ़रवरी में सम्पन्न ’एयरो इण्डिया-2017’ एयर-शो में रूस और भारत के बीच दो और ए-50ईआई (ए-50 का उन्नत रूप) विमानों की ख़रीद-फ़रोख्त का अनुबन्ध हुआ है।
A-50 6

mil.ru

रूसी वायुसेना के पास कुल 26 अवाक्स ए-50 विमान हैं, जिनमें से कुछ विमान आजकल रूस द्वारा सीरिया में चलाए जा रहे सैन्य-अभियान में भाग ले रहे हैं।
18 मार्च 2017
Tags: वायुसेना, विमान

और पढ़ें

+
फ़ेसबुक पर पसंद करें