Here, you can take a ski lift that will carry you 3800 m high. The ski lift also allows non-hikers to easily enjoy the views from Elbrus. In the late 1980s, the factory started manufacturing a production series of the newest fourth-generation multirole aircraft, the Su-27IB, which was later named the Su-32. A-50 3 Girls-cadets Communal S-400 6 Kantemirovskaya 4 Price of gold Arctic MILITARY "experienced" the deer and dogs on exercises
आइए, रूस के सबसे ऊँचे पहाड़ एलब्रूस पर चढ़ें रूसी अवाक्स विमान ए-50 भारतीय नभ सीमाओं की सुरक्षा में

रूस के विशाल कारख़ाने : जहाँ रूस का नया भारी हमलावर विमान बनाया जाता है

भारी बमवर्षक हमलावर विमान एसयू-34 कहाँ बनाया जाता है और वह कैसा विमान है?
  स्लावा स्तिपानफ़
The Chkalov Novosibirsk Aircraft Production Association (Chkalov Factory) is one of the largest airplane manufacturers in Russia that forms part of the Sukhoi Aviation Holding Company.
अधिक देखने के लिए नीचे जाएँ

Slava Stepanov / GELIO

रूस के नवासिबीर्स्क नगर में स्थित च्कालफ़ विमान निर्माण कारख़ाना रूस का सबसे बड़ा विमानन कारख़ाना है। वलेरी पाव्लविच च्कालफ़ रूस के एक मशहूर विमान चालक थे, जिन्होंने बिना रूके उत्तरी ध्रुव के ऊपर उड़ान भरी थी और मस्क्वा से वेनकुवर तक गए थे। च्कालफ़ विमान कारख़ाना सुख़ोई विमानन कम्पनी का है।
During World War II, one out of every 3 Yak fighter jets produced in the USSR was produced at the factory. The factory produced up to 33 planes practically every day in war time.

Slava Stepanov / GELIO

दूसरे महायुद्ध के दौरान सोवियत संघ में उत्पादित हर तीसरा विमान (’याक लड़ाकू विमान) इसी कारख़ाने में बनाया गया था। युद्ध के उन वर्षों में इस कारख़ाने में हर रोज़ 33 ’याक’ विमानों का उत्पादन किया जाता था।
In the late 1980s, the factory started manufacturing a production series of the newest fourth-generation multirole aircraft, the Su-27IB, which was later named the Su-32.

Slava Stepanov / GELIO

पिछली सदी के नौवें दशक के अन्त में इस कारख़ाने में चौथी पीढ़ी के नवीनतम बहुउद्देशीय लड़ाकू विमान एसयू-27आईबी का उत्पादन शुरू किया गया, जिसमें किए गए कुछ बदलावों के बाद उसे एसयू-32 नाम दे दिया गया।
In the early 1990s, production at the factory turned to the multipurpose Su-34 aircraft complex. Test pilots I. V. Votintsev and E. G. Revunov flew the first experimental aircraft from the company airfield. This aircraft has been serially produced for the Russian Air Force since 2006.

Slava Stepanov / GELIO

पिछली सदी के अन्तिम दशक के शुरू में च्कालफ़ विमान निर्माण कारख़ाने में बहुउद्देशीय बमवर्षक विमान एसयू-34 का उत्पादन करना शुरू किया गया। दिसम्बर 1993 में परीक्षक विमान चालकों ईगर वतीन्त्सिफ़ और येव्गेनी रिवुनोफ़ ने एसयू-34 की प्रारम्भिक परीक्षक उड़ानें भरीं। फिर 2006 से रूसी वायुसेना के लिए इस विमान की लगातार सप्लाई की जाने लगी।
This bomber is armed with a 30 mm cannon and has 12 suspension points for mounted weapons weighing up to 8 tons. According to some sources, two Su-34s were used during the war in South Ossetia. The planes were used to cover the activities of combat aircraft by conducting electronic warfare against Georgian air defense installations.

Slava Stepanov / GELIO

इस बमवर्षक विमान में 30 मिलीमीटर की तोप लगी हुई है। विमान में 12 ऐसी जगहें बनी हुई हैं, जहाँ 8 टन तक वजन वाले विभिन्न क़िस्म के बम और दूसरे हथियार तैनात किए जा सकते हैं। कुछ लोगों का कहना है कि दो एसयू-34 बमवर्षक विमानों का इस्तेमाल सबसे पहले दक्षिणी असेटिया में हुई मुठभेड़ में किया गया था। इन विमानों ने हमलावर विमानों की सुरक्षा में कार्रवाई की थी और जार्जिया की हवाई सुरक्षा प्रणाली को मात देकर अपना काम पूरा किया था।
Western analysts have yet to classify this plane. They call it both a “multirole fighter jet” and a “fighter-bomber”.

Slava Stepanov / GELIO

पश्चिमी विश्लेषक आज तक इस विमान का वर्ग-निर्धारण नहीं कर पाए हैं। वे कभी इस विमान को ’बहुउद्देशीय लड़ाकू विमान’ कहकर पुकारते हैं तो कभी उसे ’लड़ाकू-बमवर्षक विमान’ कहते हैं।
The cockpit is constructed using titanium armor (17 millimeters thick), while the service tank is also armored.

Slava Stepanov / GELIO

इस विमान में बना कॉकपिट (या पायलट-केबिन) 17 मिलीमीटर मोटी टायटेनियम की चादर से बना है और इस वजह से एकदम सुरक्षित है। विमान की तेलटंकी भी टाइटेनियम की बनी है और उसे भेदना बहुत मुश्किल है।
Over 6,000 workers and specialists are involved in created aircraft at the factory.

Slava Stepanov / GELIO

इस विमान कारख़ाने में 6 हज़ार से ज़्यादा विशेषज्ञ और मज़दूर काम करते हैं और विमानों का उत्पादन करते हैं।
When the fuselage is ready, systems and equipment assemblers get to work. The plane becomes a “living creature” in their hands, as the aircraft acquires all its necessary systems.

Slava Stepanov / GELIO

जब विमान का बाहरी ढाँचा बनकर तैयार हो जाता है तो उसमें दूसरे उपकरण व प्रणालियाँ फ़िट की जाती हैं। विमान में सभी आवश्यक सिस्टम लगने के बाद विमान जैसे जीता जागता ’बाज़ पक्षी’ बन जाता है।
In March 2012, the factory signed a contract with the Russian Air Force to supply 92 Su-34 airplanes by the end of 2020. This is an additional contract to one from 2008 in which the company agreed to supply the air force with 32 Su-34s. One Su-34 costs approximately 1 billion rubles (28 000 000 $ ).

Slava Stepanov / GELIO

मार्च 2012 में सुखोई कम्पनी ने रूसी वायुसेना को 92 एसयू-34 विमानों की आपूर्ति करने का एक अनुबन्ध किया था। ये विमान सुखोई कम्पनी को 2020 के आख़िर तक सप्लाई करने हैं। इससे पहले सुखोई कम्पनी ने 2008 में भी ऐसे ही 32 विमान सप्लाई करने की ज़िम्मेदारी ली थी। इनमें से कम्पनी रूसी वायुसेना को 29 नवम्बर 2015 तक 79 विमानों की सप्लाई कर चुकी थी। एक एसयू-34 विमान की क़ीमत क़रीब 1 अरब रूबल है।

और पढ़ें

+
फ़ेसबुक पर पसंद करें