नया ब्रिक्स विकास बैंक भारत और चीन को दो परियोजनाओं के लिए ऋण देगा

23 नवंबर 2016 रिया नोवोस्ती
नए ब्रिक्स विकास बैंक ने चीन और भारत की दो ढाँचागत परियोजनाओं के लिए ऋण देने की पुष्टि कर दी है।
The New Development Bank’s chief, Kundapur Vaman Kamath. Source: Stanislav Krasilnikov/TASS
ब्रिक्स विकास बैंक के अध्यक्ष कुन्दापुर वामन कामथ। स्रोत :Stanislav Krasilnikov/TASS

नए ब्रिक्स विकास बैंक ने भारत और चीन की दो परियोजनाओं का अनुमोदन कर दिया है और वह इन परियोजनाओं को पूरा करने के लिए क़रीब 64 करोड़ 10 लाख डॉलर का ऋण देगा। 

चीन के फ़ूज़्यान प्रदेश के पूत्यान ज़िले में पवन बिजलीघर बनाने के लिए ब्रिक्स बैंक चीन को दो अरब युआन या 29 करोड़ 10 लाख डॉलर का ऋण देगा। 

इसके अलावा उसने भारत के मध्यप्रदेश राज्य में डेढ़ हज़ार किलोमीटर लम्बी सड़कों के पुनर्निर्माण और निर्माण के लिए भी भारत को 35 करोड़ डॉलर का ऋण स्वीकृत किया है। 

नए ब्रिक्स विकास बैंक के अध्यक्ष कुन्दापुर वामन कामथ ने बताया — आज ब्रिक्स विकास बैंक के निदेशक मण्डल ने दो परियोजनाओं का अनुमोदन कर दिया है। ये दोनों परियोजनाएँ बैंक के सदस्य देशों की ढाँचागत ज़रूरतों से जुड़ी हुई हैं। 

उन्होंने कहा कि इन दोनों परियोजनाओं को मिलाकर अभी तक ब्रिक्स विकास बैंक ने सात परियोजनाओं के लिए कुल मिलाकर डेढ़ अरब डॉलर का ऋण उपलब्ध कराया है। 

नए ब्रिक्स विकास बैंक की स्थापना जुलाई 2014 में की गई थी। इस बैंक का मुख्यालय शंघाई में स्थित है। यह बैंक मुख्य तौर पर ब्रिक्स के सदस्य देशों और विकासशील देशों को उनकी ढाँचागत परियोजनाओं की पूर्ति के लिए निवेश उपलब्ध कराएगा।

पहली बार रिया नोवेस्ती में प्रकाशित।

+
फ़ेसबुक पर पसंद करें