पिछले 25 साल में पहली रूसी-भारतीय फ़िल्म आगामी दिसम्बर में

जल्दी ही रूसी-भारतीय सँयुक्त फ़िल्म ’बेहतरीन दोस्त’ रिलीज होने वाली है।
India cinema movies indians
स्रोत :Getty Images

रूसी फ़िल्म कम्पनी ’चिचेनफ़िल्म’ के महानिदेशक, फ़िल्मनिर्देशक और प्रोड्यूसर बिस्लान तिरिकबाएफ़ ने रूसी समाचार समिति तास को यह जानकारी दी है कि आगामी दिसम्बर में रूसी-भारतीय सँयुक्त फ़िल्म ’बेहतरीन दोस्त’ रिलीज हो सकती है। पिछले 25 साल में दो देशों के फ़िल्मकारों द्वारा मिलकर बनाई गई यह पहली फ़िल्म है। ’चिचेनफ़िल्म’ कम्पनी रूस के दक्षिण में स्थित उत्तरी कोहकाफ़ प्रदेश में और चेचनिया प्रदेश में काम कर रही है।  

बिस्लान तिरिकबाएफ़ ने बताया — आजकल हम मुम्बई में शूटिंग कर रहे हैं, जो 15 जून तक पूरी हो जाएगी। इसके बाद हम नई दिल्ली में कुछ दृश्यों की शूटिंग करेंगे और उसके बाद पहाड़ी दृश्यों की शूटिंग करने के लिए लेह चले जाएँगे। अगस्त-सितम्बर तक हम फ़िल्म की शूटिंग पूरी कर लेंगे। 

उन्होंने बताया कि यह फ़िल्म बच्चों के लिए बनाई जा रही है। यह तीन लड़कों की कहानी है, जिनमें एक लड़का रूसी है, दूसरा भारतीय है और तीसरा चेचेन है। फ़िल्म में घटने वाली सारी घटनाएँ रूस और भारत में घटती हैं। रूस के संस्कृति मन्त्रालय और रूस के उत्तरीकोहकाफ़ मन्त्रालय के सहयोग से  ’चिचेनफ़िल्म’ कम्पनी इस फ़िल्म के निर्माण में भाग ले रही है। भारत की तरफ़ से ’पेन एण्ड कैमरा इण्टरनेशनल’ कम्पनी इस फ़िल्म में सहयोगी है। 

बिस्लान तिरिकबाएफ़ ने बताया — 1990 के आरम्भ से यह पहली रूसी-भारतीय सँयुक्त फ़िल्म है। हमारी योजना मिलकर कई फ़िल्में बनाने की है। ’बेहतरीन दोस्त’ फ़िल्म हमारे सहयोग की दिशा में पहला क़दम है।  ’चिचेनफ़िल्म’ और  ’पेन एण्ड कैमरा इण्टरनेशनल’ कम्पनियों ने मिलकर फ़िल्म निर्माण करने और फ़िल्मों का वितरण करने के लिए आज एक सँयुक्त कम्पनी बनाने से सम्बन्धित सहमति-समझौते पर हस्ताक्षर किए। हमारे यहाँ रूस में दर्शक भारतीय फ़िल्मों को बेहद पसन्द करते हैं और भारत में भी लोग रूस को बेहद पसन्द करते हैं। हम मिलकर न केवल फ़िल्में बल्कि सीरियल भी बनाना चाहते हैं। 

सोवियत सत्ताकाल में सोवियत संघ और भारत ने मिलकर कुछ फ़िल्में बनाई थीं। लेकिन सोवियत संघ के विघटन के बाद दो देशों के फ़िल्मकारों के बीच रिश्ते पूरी तरह से ख़त्म हो गए थे।

+
फ़ेसबुक पर पसंद करें